/****** Font Awesome ******/ /****** Collapsing Nested Menu Items | Code by Elegant Themes ******/

1.पारद के दोष (7)

भूमि गिरी वारि (पानी) से जिसमे दो नाग और दो वंग मिले

  • भूमि – भूमिज
  • गिरी – गिरीज
  • वारि – वारिज
  • दो नाग – नाग
  • दो वंग – वंग

2. कल्याण कुमार रस के घटक द्रव्य

पारद मुक्त स्वर्ण अव लो मच्छर कुमार

  • पारद- पारद
  • मुक्त-मुक्ता भस्म
  • स्वर्ण-स्वर्णभस्म
  • अव-अभ्र्क भस्म
  • लो-लोह भस्म
  • मच्छर-माक्षिक
  • कुमार-कुमारी रस

3.पुनर्नवा अष्टक क्वाथ घटक द्रव्य

DPT ka  PAiN Nahi  Hota 

  • D-दारूहरिद्रा
  • P-पुनर्नवा
  • T-तिक्ता
  • P-पटोल लता पत्र
  • A-अमृता
  • N -नागर
  • N -निम्ब त्वक
  • H-हरड़

उपयोग -सर्वाङ्ग शोथ , उदर रोग , कास , शूल, श्वास ,पाण्डु रोग

4.रास्ना सप्तक क्वाथ घटक द्रव्य  (शा.सं .म .ख.२/८६-८७)

G GRAnD PAa

  • G-गोक्षुर
  • G-गुडुची
  • R-रास्ना
  • A-एरंड
  • D-देवदारु
  • P-पुनर्नवा
  • A-आरग्वध

उपयोग -कटीग्रह, जंघाग्रह, पार्श्वपीड़ा, पृष्टपीड़ा, उरुपीड़ा, आमवात

5.सारिवादि हिम के घटक द्रव्य

सारी पुष्प की वय चन्दन UP की चा ची में गुम हो गयी

  • सारी-सारिवा बृहतसारिवा
  • पुष्प-4पुष्प (कमलपुष्प, गुलाबपुष्प, द्रोणपुष्पी, शंखपुष्पी)
  • -वनप्सा
  • -यवास
  • चन्दन-चन्दन
  • U-उशीर
  • P-पदम काष्ट
  • चा– चोपचीनी
  • ची-चिरायता
  • में-मंजिष्ठा
  • गु– गुडुची
  • -मुण्डी

उपयोग– रक्त विकार, पित विकार