Blogs

योग से परिचय,योग करने का तरीका और इसके लाभ

March 17, 2019


What is Yoga in Hindi – वास्तविक में योग क्या है?

योग शरीर, मन, और आत्मा की सामंजस्य की ओर एक पथ है।

योग  एक कला है। योग की खोज महर्षि पतंजलि ने की थी।

योग संस्कृत शब्द ‘ युज ’ से बना है, जिसका अर्थ है जोड़ना। यह शरीर,  मन और आत्मा के मिलन, एक हो जाने  का पथ है- आत्म चेतना का  परमात्म चेतना से मिलन।

भारतीय धर्म और दर्शन में योग का अत्यधिक महत्व है। आध्यात्मिक उन्नतिया शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य के लिए योग की आवश्यकता व महत्व को प्रायः सभी दर्शनों एवं भारतीय धार्मिक सम्प्रदायों ने एकमत व मुक्तकंठ से स्वीकार किया है।

योग सिर्फ़ एक प्रकार का शारीरिक अभ्यास नहीं अपितु- एक प्राचीन ज्ञान है जो हमें स्वस्थ, खुश व शांतिपूर्ण जीवन जीने का मार्गदर्शन प्रदान करता है – जिसका अंतिम लक्ष्य स्वयं से मिलन।

हर मनुष्य आनंद चाहता है। प्राचीन समय में ऋषि मुनि स्वाध्याय द्वारा ऐसी परम चेतना की अवस्था प्राप्त कर लेते थे जहाँ उन्हें स्वतः स्वस्थ, आनंद व सार्थक जीवन जीने की कला का साक्षात्कार हो जाता था।

हालाँकि योगा हिन्दू संस्कृति का अभिन्न अंग है, किन्तु यह ऐसा ज्ञान है जो सभी धर्म, संस्कृतियों  से परे है और इसे कोई भी अपना सकता है। 

How To Do Yoga In HIndi- योग कैसे करे।

  • सही समय का चुनाव करना 
    योग करने से पहले आपको एक निश्चित समय का चुनाव करना चाहिए। यह समय जब होना चाहिए तब आप अपने सभी कार्यो से निपट चुके हो, आपके पास अच्छा वातावरण हो, चारो तरफ शांति हो। योग करने के लिए सबसे अच्छा समय सूर्योदय से 1 से 2 घंटे पहले का है। इस समय वातावरण भी शांत होता है और वातावरण में ऑक्सीजन की मात्रा भी अधिक होती है।
  • स्नान करना 
    अगर हो सके तो योग करने से पहले स्नान अवश्य कर ले। स्न्नान करने से हमारे शरीर में एक नयी चेतना का विकास होता है जिससे हमारे शरीर में चुस्ती आ जाती है और इससे योग करने में हमारा मन भी करेगा।
  • ढीले कपडे पहनना 
    योग करने के लिए हमेशा ढीले कपड़ो का प्रयोग करे ताकि मुड़ते समय आप को कोई परेशानी ना हो।
  • सही जगह का चुनाव 
    योग करने के लिए सही जगह का चुनाव करना बहुत जरुरी है। जगह प्रकृति के करीब या पेड़ पोधो के पास हो और यदि वातावरण आनंदमय बनाना हो तो इसके लिए आप गुग्गुल धुप का भी प्रयोग कर सकते हो।
  • अब सबसे पहले आप आसनों का अभ्यास करे।
    आसनों को योग के शुरुआत में करे ताकि आप विश्राम करने के बहाने फिर आगे की क्रियाएँ आराम से कर सके।
  • आसन करने के बाद प्राणायाम करे और प्राणायाम के बाद ध्यान भी कर सकते है।

ये हुए योग की शुरुआत करने के लिए सारी प्रक्रिया। इससे आपका शरीर और मन दोनों एक दम स्वस्थ रहेंगे।

Rules for Yoga in Hindi – योग के लिए नियम।

  • योग को हमेशा खाली पेट करना चाहिए।
  • योग करते समय अपने खान -पान का विशेष ध्यान रखे।
  • योग में सफलता पाने के लिए संतुलित आहार का सेवन करे।
  • योग के समय अपने आस -पास सफाई का ध्यान रखे।
  • मन को अत्यंत शांत और सम भाव रखने का प्रयास करे।
  • योग करते समय साँस नाक से लेना चाहिए और नाक से ही छोड़ना चाहिए।
  • बुखार होने पर योग नहीं करना चाहिए लेकिन हल्का प्राणायाम किया जा सकता है।
  • किसी मेडिकल ऑपरेशन के बाद 6 महीने तक योग ना करे।
  • गर्भवती महिला को योग नहीं करना चाहिए लेकिन सूक्ष्म व्यायाम किया जा सकता है।

योग के लाभ | Benefits of Yoga

  • शरीर से विषैले तत्वों को बहार निकलने में सहयोग देता है।
  • योग मनुष्य को दूसरा जीवन प्रदान करता है। जो पूर्ण रूप से निरोग होता है।
  • शरीर में ऊर्जा का सही प्रवाह निर्देशित करना।
  • शरीर की रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाता है। जिससे हम बड़ी -बड़ी बिमारियों के प्रभाव से बच सकते है।
  • मांसपेशियों में लचक और जोड़ों का बराबर संचालन।
  • शरीर और मन की चंचलता को दूर करता है।
  • अंग – विन्यास (Posture) और शरीर के सरेखण (alignment) को ठीक करना।
  • पाचन क्रिया, हार्मोन ग्रंथियों और प्रवाह तन्तुओं को निर्देशित करना।
  • अंगो प्रत्यंगों को मज़बूत करना, शरीर को तन्दुरुसत रखना और यौवन कायम रखना।
  • अस्थमा, डायबिटीज, ह्रदय रोगों और कई पुरानी बिमारियों से निज़ात दिलाना और वज़न कम करने में सहायता करना।


Leave your vote

6 points
Upvote Downvote

You Might Also Like

No Comments

Leave a Reply

Log In

Forgot password?

Don't have an account? Register

Forgot password?

Enter your account data and we will send you a link to reset your password.

Your password reset link appears to be invalid or expired.

Log in

Privacy Policy